बुधवार, 27 अप्रैल 2011

क्या पोलिटिक्स की दुनिया में बहु बेटी की लाज सुरक्षित है ?

       " क्या भारत का राजकारण बहु बेटियों के लिए हितावह है ? , क्या पोलिटिक्स की दुनिया में बहु बेटी की लाज सुरक्षित है ? ये सोचने जैसे सवाल है जिसका जवाब कई लोग " हाँ " में देंगे मगर सच कुछ और है ..आईये अपनी आँखों से देखलो इन सवालों के जवाब को |"

       " जहाँ एक तरफ कहते है की औरत का सच्चा गहेना उसकी "इज्ज़त" होती है वही पर जब कोई सरे आम उसकी इज्ज़त के साथ खिलवाड़ करे तो इसे क्या कहते है ? ...सुरक्षित या असुरक्षित ? ..जब सत्ता के मोह में औरत अपनी इज्ज़त भी बचा नहीं पाती है तो ये शर्मनाक हो सकता है इज्ज़त के सामने सत्ता मिले तो वो सत्ता कीस काम की अरे लानत है ऐसी सत्ता पर | "

       " हमारे ही चुने हुवे नेता कितने साफ़ चरित्र के होते है इस बात का पता लगाना मुस्किल है, क्यों की जब इस देश में कोई नेता बलात्कार करता है तब उस पर कार्यवाही करने से डरता है कानून और अगर कार्यवाही करता है फिर भी निर्दोष छुट जाते है ऐसे नेता ,क्यों की हम लोग डरते है 
इस देश के कानून से और गन्दी राजनीती से ..मगर जब किसी बेटी की इज्ज़त सरेआम बाजार में लीलाम कर दी जाये और अश्लील हरकत जनता के सामने  किसी नेता के द्वारा की जाये तो आप क्या कहोगे ?"

       " यहाँ पर ताजुब तब होता है जब अश्लील हरकत की शिकार महिलाये भी कुछ प्रतिकार नहीं करती है ... सिर्फ सत्ता पाने के लिए ही ना ? .. इस विडिओ को देखकर आप ही तय करना की आपकी बहु या बेटी को राजनीती के गंदे तालाब में आप भेजना चाहोगे या नहीं ? क्यों की रस्ते पर अगर ऐसी हरकते है तो इनकी ऑफिस में क्या क्या नहीं होता होगा .. |" 


             " तेज़ न्यूज़ " के इस विडिओ को जरूर देखे ... हाँ ..हाँ आप भी देख लो भारत और पाकिस्तान के नेता कितने साफ़ सुथरे होते है | "

 

9 टिप्पणियाँ:

योगेन्द्र पाल ने कहा…

मुझे समझ नहीं आया कि आप क्या कहना चाहते हैं?

इसमें किधर अश्लीलता है? क्या किया नेताओं ने, वे नेता कौन है? वे स्त्रियां कौन हैं?

इस वीडियो में कुछ भी साफ़ नहीं है, यदि कुछ अश्लीलता है तो उसे खुल कर लिखें

Dr. shyam gupta ने कहा…

---साफ़ साफ़ छेडछाड दिख तो रही है..योगेन्द्र जी...दोनो महिलाओं से...
---बात वही है कि वे महिलायें चुप चाप सहन क्यों करती हैं---सत्ता, पैसा, पद के लिये ही न...और यह सिर्फ़ राजनीति में नहीं हर जगह है..जहां --स्त्री व पुरुष का मेल होता है...साथ साथ काम करते हैं..

योगेन्द्र पाल ने कहा…

थोडा ज़ूम करके देखा तो पता चला,

पर जब तक ये महिलाये खुद नहीं कहतीं कि "हमारे साथ छेडछाड" हो रही है तब तक हम कैसे कह सकते हैं?

मेरे विचार में इस लेख का लिंक "नारी" सामूहिक ब्लॉग को भेजा जाना चाहिए, जिससे महिलाओं के इस बारे में विचार पता चलें- क्यूंकि वो ही यह बता सकतीं हैं कि ये चुप क्यूँ हैं?

हरीश सिंह ने कहा…

जो महिलाये खुद ही शर्म-हया त्याग कर मजे ले रही हैं. उनके बारे में क्या कहा जाय, राजनीती तो वेश्या हो चुकी है फिर उसमे भागीदारी निभाने ......................................?
--

आशुतोष ने कहा…

वर्तमान राजनैतिक परिवेश में यही सत्यता है जो महिलाये भी मजे ले कर स्वीकार कर रही हैं..राजनैतिक वेश्यावृति आज से नहीं है..
कई संताने इसकी मिल सकती है..उदहारण दूंगा तो फिर नयी बहस हो जाएगी मगर एक- का नाम लिए बिना रह भी नहीं सकता..
उत्तर प्रदेश की वर्तमान मुख्यमंत्री..अगर वो विरोध करती तो आज हमारी मुख्यमंत्री नहीं होती..

SACCHAI ने कहा…

sahi kaha aap sab ne ..ki jab tak naaari hi nahi kaheti hai ki us per anyay huva hai tab tak kuch nahi ho sakta ..magar .."

ek baat saaf hai ki politics bahu betiyoan ke liye salamat nahi hai ..kyu ki yahan per aate hi satta ka bhoot man me nachane lagata hai "

aap sab ka tahe dil se sukriya

हल्ला बोल ने कहा…

भाई यह विडिओ पाकिस्तान का है शायद, बुरका पहन कर आती तो सही था न. अपने भारत में मुस्लिम भाई संस्कार रखते हैं. अब भारतीय संस्कृति से पाकिस्तान को जोड़ेंगे.

गंगाधर ने कहा…

mahilaye hi pathbhrast ho to koi kya kare.

SACCHAI ने कहा…

bhaiya hallabol sir , jara gaur se dekhiye ye video bharat aur pakistan ka hai ...yahan per pakistani aur baad me bhartiy rajneta ko dikhaya gaya hai

Add to Google Reader or Homepage

 
Design by Free WordPress Themes | Bloggerized by Lasantha - Premium Blogger Themes | cna certification