गुरुवार, 20 अक्तूबर 2011

सुनो अन्ना: सोना ? सरकार का या कुँभकरण का ?

सुनो अन्ना: सोना ? सरकार का या कुँभकरण का ?: आदरणीय अन्ना अंकल, हमारी कक्षा में एक लडकी पूछने लगी,“सर,सोने का विशेषण क्या होता है?“ सर जी ने दो जवान बेटियों की शादी करनी है, 10-10 तोले...

3 टिप्पणियाँ:

सामाजिकता के दंश ने कहा…

लक्ष्मी उल्लू पर सबार

सामाजिकता के दंश ने कहा…

लक्ष्मी उल्लू पर सबार

neel pardeep ने कहा…

प्रिय भाई ,
वाह क्या सटीक टिपण्णी की आपने !
व्यंग्य तो वही होता है जिसके कई अर्थ निकलते हो
आते रहिएगा मेरे इस ब्लॉग पर
आभार
प्रदीप नील

Add to Google Reader or Homepage

 
Design by Free WordPress Themes | Bloggerized by Lasantha - Premium Blogger Themes | cna certification