मंगलवार, 5 अप्रैल 2011

प्रश्न पूनम पांडे से !


प्रश्न पूनम पांडे से !

कैसी आदिम सोच है तुम्हारी?
किस आधुनिक पीढ़ी का
प्रतिनिधित्व कर रही हो तुम ?
क्या पाना चाहती हो तुम
और कैसे ?
क्या तुम्हारा अनुसरण
कर स्त्री जाति फहरा
पायेगी सशक्तिकरण का झंडा ?
क्या तुम सोचती हो कि
स्त्री के पास अपनी देह के अतिरिक्त
कुछ भी नहीं ?
तुम्हारी मानसिकता इतनी
दिवालिया क्यों हो गयी ?
तुम्हारा नाम तो अमावस्या होना
चाहिए था फिर किसने
''पूनम ''रख दिया ?
तुमने  तो आज  नग्नता 
को  भी शर्मसार   कर दिया !
        
               शिखा कौशिक


10 टिप्पणियाँ:

शालिनी कौशिक ने कहा…

vastav me poonam pandey stri shakti ke naam par kalank hain.aisee soch aur aisee striyon kee bataon ko darkinar kar dena chahiye ye andheren me bhatkengee to apne aap akl thikane aa jayegee.

sushma 'आहुति' ने कहा…

bhut sahi kaha apne..kaas punam pandy bhi is baat ko samjh pati?

Sunil Amar journalist 09235728753 ने कहा…

नग्नता अश्लीलता नही होती. किस बात पर इतना हल्ला ? हमारे देश में एक समुदाय नग्न ही रहता है और हम उसे आदर भी देते हैं! अश्लीलता का विरोध करिए, नग्नता तो प्राकृतिक है.

रजनीश जैन ने कहा…

पूनम पांडे सफल हो गई . जो वह चाहती थी उसे मिल गया . पहले उसे ख़बरों के भूखे मीडिया ने तव्वज्जो दी ...आम जन तक उसकी शातिर हरकत पहुचाई और प्रसिद्द कर दिया अब बचा कूचा काम आप और हम जैसे लोग उसे ब्लॉग पर जगह देकर कर रहे है .

Atul Shrivastava ने कहा…

बहुत अच्‍छा।
सच में उसका नाम अमावस्‍या होना चाहिए था।
गहरी सोच।

सुज्ञ ने कहा…

सही कहा…… उसने नग्नता
को भी शर्मसार किया है।

सुनील अमर जी,

अश्लीलता नग्नता में न सही नग्नता के पिछे छिपे कारणों में है।
जहाँ नग्नता पूजनीय है वहाँ आदर्श कारण है। यहाँ नग्नता की मंशा ही प्रदर्शनीय है।

Dr. shyam gupta ने कहा…

सुन्दर भावाव्यक्ति.....बधाई..

-----सुनील जी नगनता भाव में ही होती है, और अश्लीलता भी---यदि पूनम को नन्गा रहना है तो आपके द्वारा बताये गये समुदाय में ही जाकर रहना चाहिये वहां कोई हल्ला नहीं मचायेगा.....सभी अपनी पत्नी- पति -प्रेमी के आगे नन्गे होते हैं ,कौन हल्ला करता है....बाजार में नन्गा होना तो कानूनन भी अवैध है....अश्लील भी..

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

nagnta aur ashlilta sahi me sonch me hi hoti hai jab kisi ki sonch hi sahi galat ko sonchne se pare ho to koi kitni bhi use achhai ka path padha le wo apni hadd se gujrega hi punam pandey ho ya koi aur .

शिखा कौशिक ने कहा…

Shyam gupt ji ne bilkul sahi kah diya hai main aur jyada kya kahun ?
sabhi ka aabhar .

wordy ने कहा…

bahut sahi keha poonam ji!

Add to Google Reader or Homepage

 
Design by Free WordPress Themes | Bloggerized by Lasantha - Premium Blogger Themes | cna certification